योजना तथा अंतर्राष्ट्रीय सहयोग

योजना तथा अंतर्राष्ट्रीय सहयोग(पीआईसी) विंग विदेशों के साथ द्विपक्षीय तथा बहुपक्षीय रक्षा सहयोग गतिविधियों से संबंधित मामलों का निपटान करता है । पीआईसी द्वारा लिए गए कार्य के कुछ क्षेत्र निम्न हैः-

  1. रक्षा परिप्रेक्ष्य योजना, नीति और रणनीति विदेशों के साथ अन्तर्राष्ट्रीय सहयोग/करारों पर हस्ताक्षर करना/समझौता ज्ञापन/प्रोटोकॉल आदि । तथा विदेशों के साथ हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापनों/करारों के प्रावधान के अंतर्गत गठित संयुक्त समूहों की बैठकें करने से संबंधित मामले ।
  2. रक्षामंत्री रक्षा राज्यमंत्री; रक्षा उत्पादन राज्यमंत्री रक्षा सचिव आदि अन्य उच्च स्तर के प्रतिनिधि मण्डलों के दौरों के वार्षिक कार्यक्रम को अन्तिम रूप दिया जाना ।
  3. जन सम्पर्क(रक्षा) निदेशालय तथा रक्षा अध्ययन तथा विश्लेषण (आईडीएसए)- संस्थान से संबंधित मामले ।
  4. सेवा स्टाफ बातचीत के कार्यसूची का समन्वय तथा विदेशों की सशस्त्र सेनाओं जिसमें संयुक्त/बहुपक्षीय अभ्यास शामिल है, के साथ वार्षिक रक्षा सहयोग सेवा योजनाओं का अनुमोदन।